Breaking News
Home 25 खबरें 25 राफेल विवाद: नए खुलासे पर दसॉल्ट ने दी सफाई, आज राफेल प्लांट का दौरा कर सकती हैं रक्षा मंत्री

राफेल विवाद: नए खुलासे पर दसॉल्ट ने दी सफाई, आज राफेल प्लांट का दौरा कर सकती हैं रक्षा मंत्री

नई दिल्ली: फ्रेंच बेवसाइट मीडियापार्ट के राफेल पर नए खुलासे के बाद विपक्ष एक बार फिर सरकार पर हमलावर है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीधे पीएम मोदी को निशाने पर लेते हुए उन्हें भ्रष्ट बताया है. इस बीच राफेल बनाने वाली कंपनी दसॉल्ट ने सफाई दी है.

 

दसॉल्ट के सीईओ एरिक ट्रैफियर ने बताया कि किस तरह नियमों का पालन करके ही अनिंल अंबानी की कंपनी के साथ करार किया गया. इस सब के बीच फ्रांस दौरे पर पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण आज दसॉल्ट के प्लांट का दौरा कर सकती हैं. कल राहुल गांधी ने इस दौरे पर भी सवाल उठाए थे.

 

दसॉल्ट कंपनी ने सफाई में क्या कहा?
दसॉल्ट के सीईओ एरिक ट्रैफियर ने साफ किया कि अंग्रेजी के ‘OFFSET’ शब्द को फ्रेंच में ‘COMPENSATION’ कहा जाता है. रिलायंस से समझौता भारत के कानून के तहत ही हुआ और पूरी तरह दसॉल्ट का फैसला था. कानून के तहत ही दसॉल्ट ने रिलायंस के साथ नागपुर में प्लांट बनाने का फैसला किया.

 

ट्रैफियर ने कहा कि हमारी बातचीत सौ से ज्यादा कंपनियों से जारी है और 30 कंपनियों के साथ साझेदारी भी हो चुकी है. सरकारी कंपनी HAL की जगह रिलायंस को चुनने पर एरिक ने कहा, ”रिलायंस के साथ मिलकर दसॉल्ट भारत में लंबी साझेदारी करना चाहता था इसलिए ये फैसला लिया गया.”

 

राहुल गांधी ने पीएम मोदी
राफेल विमान डील पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब पीएम मोदी को सीधे सीधे भ्रष्ट कह डाला है. मोदी को पहली बार किसी विपक्षी नेता ने भ्रष्ट कहा. राहुल गांधी ने कहा कि मैं देश के युवाओं को बताना चाहता हूं कि हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री भ्रष्ट है. राफेल मामले में सीधे प्रधानमंत्री पर आरोप लग रहे हैं लेकिन वे चुप हैं. राहुल गांधी ने अनिल अंबानी को फायदा पहुंचाने की बात भी कही. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने 30 हजार करोड़ रुपये वायुसेना से लेकर अनिल अंबानी की जेब में डाले.

 

बीजेपी का राहुल गांधी को जवाब
राफेल पर आरोपों का जवाब देने आए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी को झूठा करार दिया. संबित पात्रा ने कहा कि झूठे आरोपों के सहारे राहुल गांधी राजनीति में सफल नहीं होंगे. राफेल पर पात्रा ने कहा, ”एयर चीफ मार्शल राफेल डील के बारे में बोल चुके हैं कि यह एक गेम चेंजर है. देश की सुरक्षा में नई दिशा में ले जाने वाला होगा, जबकि राहुल गांधी इसके विपरीत बोलते हैं. किसकी बात पर विश्वास किया जाए. एयर चीफ मार्शल या राहुल गांधी की बात पर.”

 

राफेल पर क्या नया खुलासा हुआ है?
फ्रांस की मीडिया ने राफेल डील को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. बुधवार को हुए इस खुलासे में राफेल बनाने वाली कंपनी डसॉल्ड एविएशन के आंतरिक दस्तावेजों का हवाला देते हुए कहा गया है कि इसे ऑफसेट पार्टनर के तौर पर अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस के अलावा कोई विकल्प दिया ही नहीं गया था.

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*